सज्जन जन वही है जो ढाल सरीखा होय

kailash Vijayvargiya


पाँच राज्यों में चुनावी गहमा-गहमी शांत हुई या कहें चुनावी समर समाप्त हुआ।
भाजपा को प्रशंसनीय जीत हासिल हुई।

उत्साहवर्धक इस जीत ने साबित कर दिया कि हमारा दल अब तक के सबसे मज़बूत हाथों में सुरक्षित है,
माननीय मोदी जी एवं माननीय अमित शाह जी की दूरदृष्टि, संगठनात्मक कौशल, उनका साहस, उनके प्रेरणात्मक कदमों ने भाजपा के लिए जीत को जीत लिया।

गौर करने वाला तथ्य है कि कठिन राज्यों में नित नए सोपान चढ़ रही भाजपा ये बुलंदियां यूँही नहीं छू रही, इसके लिए हमने अपने वैचारिक धरातल पर खड़े होकर गहन तैयारी की है, पूरे दल ने पसीना बहाया है।

मैं माननीय मोदी जी एवं माननीय अमित शाह जी से प्रेरणा लेने और आगे हमारी गतिविधियों को गति देने के उद्देश्य से कुछ तथ्य आपके साथ साझा करना चाहूँगा।

माननीय मोदी जी एवं माननीय अमित शाह जी के साहसी सद्प्रयासों से भाजपा ने वर्षों से चली आ रही इस अवधारणा को ध्वंस्त कर दिया कि देश में जाति-धर्म, परिवार आधारित राजनीति ही कामयाब होती है। इस तरह वे देश की राजनीति को ऊँचे पायदान पर लाने में सफल रहे हैं।

उत्तरप्रदेश, उत्तराखण्ड के अलावा मणिपुर और गोवा के मतदाताओं ने हमें अभूतपूर्व समर्थन देकर यह साबित कर दिया है।

माननीय मोदी जी एवं माननीय शाह जी ऐसे सेनापति हैं जो मैदान में मोर्चा संभाल लेते हैं। वे जीत का श्रेय ले सकते हैं तो पराजय की जिम्मेदारी लेने से भी नहीं घबराते। उनका यही जज्बा उन्हें विजयी ही बनाता है।

वे जान की बाज़ी लगाकर भी अपना लक्ष्य हासिल करने से नहीं चूकते, वाराणसी में तीन दिन डेरा जमाकर माननीय मोदी जी ने यह साबित कर दिया। यह मोदी जी की नैतिकता और जुनून ही है कि कुछ विपक्षियों एवं अन्यों द्वारा आलोचना के उपरांत भी, अपने चुनाव क्षेत्र में उन्होंने पूरा जोर झोंक दिया, अपने लक्ष्य में वे सफल रहे, इससे आलोचकों के मुंह सिल गए। अगर वे ऐसा न करते तो वे पार्टी के अन्य अगुओं को भीअपने क्षेत्र में बेहतर परिणामों के लिए कहने का साहस कैसे करते।

मोदी जी अपने दल की और देश की छोटी से छोटी समस्या से लेकर बड़ी-बड़ी समस्याओं के प्रति आँखें और दिमाग खुला रखकर त्वरित निर्णय लेते हैं। इसीलिए उनकी ईमानदार, कर्तव्य परायणता पर देश का अटूट विश्वास, दिन पर दिन ज्यादा पुख्ता हुआ है।

माननीय मोदी जी एवं माननीय शाह जी की प्रेरणा से हमें विश्वास हो गया है कि भाजपा में छोटे से छोटा कार्यकर्ता भी भाजपा ही है। हर कार्यकर्ता अपने दल के प्रति पूरी तरह समर्पित है, यही हमारी ताकत है।

ये सभी सच्चाईयाँ हममें नए जोश का संचार करने और आगे आने वाले चुनावों के लिए दिशा देने वाले हैं, तो आओ! हम सभी माननीय मोदी जी एवं माननीय शाह जी के साथ देश के विकास के लिए पूरी शक्ति से आगे बढ़ें और भाजपा को और ज्यादा मजबूत कर बहुत आगे ले जाएँ।

माननीय मोदी जी एवं माननीय शाह जी के लिए यही कह सकते हैं कि:

सज्जन जन वही है जो, ढाल सरीखा होय।
दुःख में वो आगे रहे, सुख में पाछे होय॥

Comments

comments